तुलसी के पत्ते खाने के फायदे – औषधी उपयोग | Tulsi Patte Khane Ke Fayde

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
शेयर कीजिए
5/5 - (1 vote)

तुलसी को औषधीय गुणों की खान भी बोल सकते हैं । तुलसी के पौधे का आयुर्वेद और धर्मग्रंथ वेदों में भी महत्व मिलता हैं साथ ही ऐलोपैथी, होम्योपैथी और यूनानी इन आधुनिक उपचार पद्धतियों के दवाइयों में भी तुलसी का उपयोग किया जाता हैं।

हमारी भारतीय संस्कृति में तुलसी के पौधे का एक अलग महत्व भी है । तुलसी को पवित्र और दैवी मानते हैं और तुलसी के पौधे की श्रद्धापूर्वक पूजा की जाती हैं । आंगन में तुलसी का पौधा लगाने से घर में सुख, शांति, समृद्धि आती हैं और नकारात्मकता दूर रहती है।

Tulsi Ke Patte Khane Ke Fayde

तुलसी के पत्ते खाने के फायदे – Basil Leaves Benefits In Hindi

भारतीय संस्कृति में तुलसी के पौधे को पवित्र और दैवी माना गया हैं और तुलसी को माता का दर्जा दिया है। तुलसी को हमे दातों से चबाकर नही खाना चाइए बल्कि श्रद्धा पूर्वक तुलसी के पत्ते को निगल जाना चलिए ।

सुबह खाली पेट तुलसी के पत्ते निगलने से आपको क्या लाभ हो सकते है यहां जानें।

  • तुलसी के पत्ते का सेवन करने से पाचन शक्ति अच्छी होती हैं। पाचन शक्ति ठीक रहने से शरीर मजबूत होता है।
  • याददाश्त बेहेटर होती है।
  • हृदय के लिए तुलसी में पत्ते का सेवन करना लाभदायक है।
  • कैंसर को रोकने में लाभदायक है।
  • तुलसी में होने वाले डिटॉक्स गुण लिवर के स्वास्थ के लिए लाभदायक है।
  • रोग प्रतिरोधक शक्ति में विकास होता है जिससे सर्दी, जुकाम, बुखार, आदि बीमारियां दूर रहती है।
  • तुलसी में पोटैशियम और फोलेट तत्व होते है। सुबह खाली पेट तुलसी के पत्तो का सेवन करने से हड्डियां मजबूत होती हैं।
  • सासों और मुंह की दुर्गंध दूर रहती हैं।
  • तुलसी में होने वाले एंटीऑक्सीडेंट से आपके बाल झड़ने की संभावना कम हो जाती हैं। और चेहरे पर चमक आती है।

इन बीमारियों और समस्याओं में कीजिए तुलसी का ओषधी को तरह उपयोग

  • आधुनिक उपचार संस्था NCBI के शोधकर्ताओं ने तुलसी में एंटीस्टेस गुण पाए हैं। जिससे मानसिक तनाव दूर करने के लिए तुलसी बोहोत लाभदायक ओषधी हैं। तुलसी को पानी में उबाल कर चाय की तरह पीने से मानसिक तनाव से मुक्ति हो जाती है।
  •  NCBI ने तुलसी में एंटीडिप्रेसेंट गुण पाए है । जिससे याददाश्त बढ़ाने में सहायक मिल सकती है। कई भारतीय आयुर्वेदिक चिकित्सक भी याददाश्त से संबंधित परेशानियों के लिए तुलसी के पत्ते का सेवन करने की सलाह देते है।
  • NCBI के शोधकर्ताओं ने तुलसी में एंटीबैक्टिरियल गुण भी पाए है जो बैक्टेरिया को रोकता है। चोट लगने पर फिटकरी और तुलसी के पत्तो को पीसकर चोट पर लगाने से चोट पर बैक्टेरिया का संक्रमण नही होता और जल्दी भर जाती है।
  • सुबह खाली पेट तुलसी के पत्ते निगलने से रोग प्रतिरोधक शक्ति में विकास होता है।
  • पाचन शक्ति बढ़ाने के लिए भी तुलसी को पत्ते उपयोगी है।
  • बुखार में भी तुलसी का ओषधी की तरह उपयोग किया जा सकता है, काली मिर्च के साथ तुलसी के पत्ते को पानी में उबाल कर काढ़ा बनाकर पीने से बुखार से आराम मिलता है।
  • थोड़े तुलसी के पत्तो को पानी में उबाल कर भाप लेने पर सर्दी, जुकाम से राहत मिलती है।

निष्कर्ष

इस लेख में अपने तुलसी के पौधे का औषधीय महत्व जाना तुलसी एक औषधीय गुणों से भरपुर पोधा है । सुबह खाली पेट तुलसी के कुछ पत्तो का सेवन करना लाभदायक है।

अन्य –

 

अक्सर पूछे गए प्रश्नों के उत्तर 

तुलसी के कितने पत्ते खाने चाइए?

रोजाना तुलसी के चार से पांच पत्तो का सेवन करना लाभदायक सिद्ध हुआ है।

रोजाना तुलसी के पत्ते खाने से क्या होता है?

रोजाना तुलसी का सेवन करने से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है, पाचन क्रिया बेहीतर होती हैं। और तुलसी का सेवन करना कैंसर, लीवर, हृदय संबंधित बीमारियों को दूर रखने में सहायक हैं।

तुलसी को चबाकर चना सही है या गलत?

तुलसी को पवित्र , दैवी और पूजनीय पोधा माना गया है। हमे श्रद्धा पूर्वक तुलसी के पत्ते को निगल जाना चाहिए।

अन्य पढ़े –हस्तमैथुन के फायदे और नुकसान

 

Leave a Comment

× How Can I Help You?