गहरे ध्यान में कैसे जाएं ? प्रभावशाली उपाय

ध्यान में क्या सोचना चाहिए || ध्यान बीच की बाधा

जो लोग ध्यान की अवस्था नहीं जानते वे ध्यान में क्या सोचना चाहिए पूछते हैं। सबसे पहले तो हमे यह समझना है की ध्यान केवल वह नहीं है जिसे पूरी

पढ़िए
ब्रह्म और परब्रह्म में अंतर | स्वरूप

ब्रह्म कौन है, ब्रह्म ज्ञान कैसे प्राप्त होता हैं.

ब्रह्म कौन हैं? ब्रह्म को कैसे जाने जिसे जाना ही नहीं जा सकता उसे कैसे जाने अगर हम जानते हैं इसके पीछे कारण होते हैं, गुण आकार आदि। लेकिन ब्रह्म

पढ़िए
gahre-dhyan-me-kaise-jaye-dhyan-kaise-kare

ध्यान कैसे करे || गहरे ध्यान में प्रवेश करने के प्रभावशाली उपाय

ध्यान के द्वारा न केवल स्वयं का बल्कि जीवन मृत्यु के चक्र से परे परमसत्य तक का भी बोध प्राप्त होता हैं। तथा ध्यान में ऐसे गुण भी है जो

पढ़िए
हरे कृष्ण हरे कृष्ण कृष्ण कृष्ण हरे हरे , हरे राम हरे राम राम राम हरे हरे |

हरे कृष्ण | हरे कृष्ण हरे राम महामंत्र जाप | लाभ | शास्त्रों में महिमा

भगवान नाम जप के लिए कोई भी नियम या बंधन नहीं होता हैं, नाम जप का बीज चाहे कैसा भी बोए जाए ये फल देने ही वाले हैं, भगवान नाम

पढ़िए
भगवान शिव के आगे 'श्री' क्यों नहीं लगाया नहीं जाता

भगवान शिव के नाम के आगे ‘श्री’ क्यों नहीं लगाया नहीं जाता

भगवान श्रीविष्णु, श्रीकृष्ण, श्रीराम के ‘श्री’ लगाया जाता है, परंतु भगवान शिव के आगे ‘श्री’ को नही लगाया जाता, इसके पीछे का कारण बहुत कम लोग जानते है, इसके पीछे

पढ़िए
अहम् ब्रह्मास्मि

‘अहम् ब्रह्मास्मि’ महावाक्य का अर्थ और तात्पर्य हिन्दी में जानिए

‘अहम् ब्रह्मास्मि ‘ महावाक्य का तात्पर्य अहम् ब्रह्मास्मि  सनातन संस्कृति का महावाक्य है, इस महावाक्य का हिंदी अर्थ होता है ‘मैं ब्रह्म हूं’ । जब कोई योगी ध्यान साधना में उच्चतम

पढ़िए
JivankiShuddhta

 🙏🏻हरे कृष्ण 

मैं मनमोहनदास, आपका स्वागत करता हूं, यहां आपको वैदिक-ज्ञान, पौराणिक कथाएं, आध्यात्मिक यात्रा के साथ और भी ज्ञानवर्धक लेख उपलब्ध होते हैं। हमारा प्रयास है की पाठकों को जीवन जीने का एक आनन्दमय मार्ग दिखाएं, आश्वासन हैं, यह मार्ग जीवन को अवश्य ही शुद्ध करेंगा।

× How Can I Help You?